जहूराबाद के तीनों ब्लाकों पर लहराया भाजपा का परचम

जहूराबाद के तीनों ब्लाकों पर लहराया भाजपा का परचम

तौहीद अब्बासी

न्यूज़ दर्पण,कासिमाबाद, गाजीपुर

कासिमाबाद में समर्थकों संग विजयी मुद्रा में नवनिर्वाचित प्रमुख मनोज गुप्ता

शनिवार को हुए ब्लाक प्रमुख के चुनाव में जहूराबाद विधानसभा के अंतर्गत आने वाले 3 विकास खंडों कासिमाबाद ,मरदह एवं बाराचवर पर भाजपा ने शानदार विजय प्राप्त की है। तीनों जगहों में से 2 जगह बीजेपी से सीधी लड़ाई में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार पराजित हुए। समाजवादी पार्टी ने भी दमदारी से चुनाव लड़ा व कासिमाबाद व मरदह में लड़ाई रोमांचक बनाई। आंकड़ों की बात करें तो कासिमाबाद ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी मनोज गुप्ता ने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी जय हिंद यादव को 8 वोटों से हराया। यहां जय हिंद यादव को 54 तथा विजई प्रत्याशी मनोज गुप्ता को 62 वोट मिले। चुनाव जीतने के बाद मनोज समर्थक बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी व आतिशबाजी की । बाराचवर ब्लाक प्रमुख के चुनाव की बात करें तो यहां भारतीय जनता पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी बृजेन्द्र सिंह ने निर्दल प्रत्याशी शिव शंकर को हराया। बृजेन्द्र को 55 एवं शिव शंकर को 47 वोट मिले। यहां पर लड़ाई काफी रोचक रही। मरदह विकासखंड में ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी पर समाजवादी वर्चस्व की समाप्ति हो गई है और यहां निवर्तमान ब्लॉक प्रमुख विजय यादव अपनी प्रतिद्वंदी भारतीय जनता पार्टी की सीता सिंह से 5 मतों से चुनाव हार गए हैं। यहां सीता सिंह का 47 और विजय यादव को 42 मत मिले। इससे पूर्व ब्लाक प्रमुख के चुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से आयोजित करने के लिए पुलिस प्रशासन ने व्यापक सुरक्षा के प्रबंध किए थे और आवश्यक स्थानों पर बैरिकेडिंग कर मार्ग को डायवर्ट किया गया था ।दिन भर कासिमाबाद कोतवाली के निरीक्षक श्याम जी यादव अपने पूरे पुलिस अमले के साथ चुनावी प्रक्रिया में मौके पर डटे रहे

मतदान केंद्र के बाहर ज़रूरी कागजात चेक करते पुलिसकर्मी

कासिमाबाद में सपाइयों का हंगामा, प्रशासन पर लगे पक्षपात के आरोप

आक्रोशित सपा कार्यकर्ताओं को पीछे करती पुलिस

कासिमाबाद के ब्लाक प्रमुख के चुनाव में सपाइयों ने उस वक्त बवाल काटा जब उनके खेमे के चार क्षेत्र पंचायत सदस्यों के प्रमाण पत्र विरोधी खेमे द्वारा रख लिए गए जिसके फलस्वरूप अंततः वह अपने मताधिकार का प्रयोग नहीं कर पाए। सपाइयों का कहना था कि क्षेत्र पंचायत सदस्यों के प्रमाण पत्र विपक्षी खेमे ने धोखाधड़ी करके अपने पास रख लिए थे और प्रशासन की मिलीभगत से उन्हें मताधिकार से वंचित रखा गया । सपाई इस संबंध में अपने प्रत्याशी जयहिंद यादव से बात करना चाह रहे थे जिसकी प्रशासन ने इजाजत नहीं दी।वहीं इसके उलट उपजिलाधिकारी कासिमाबाद भारत भार्गव ने बताया कि इस तरह की कोई कंप्लेन सामने नहीं आई थी अगर इस तरह की घटना थी तो संबंधित क्षेत्र पंचायत सदस्यों द्वारा इसकी सूचना समय रहते दी जानी चाहिए थी। चार क्षेत्र पंचायत सदस्यों के मताधिकार का प्रयोग न कर पाने के विरोध में सपाइयों ने पुलिस प्रशासन एवं अन्य अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और हंगामा किया। घटना सुन मौके पर पहुंचे एसपी सिटी गोपीनाथ सोनी ने मामला समझा-बुझाकर शांत कराना चाहा तब भी सपाई धरने पर अड़े रहे और रह रह कर नारेबाजी होती रही ।तत्पश्चात सपा प्रत्याशी ने मतगणना के पश्चात स्वयं बाहर आकर अपने समर्थकों को शांत कराया इस दौरान भी पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *