जहूराबाद विधानसभा: भाजपा के लिए 25 साल पुराना इतिहास दोहराने का मौका

जहूराबाद विधानसभा: भाजपा के लिए 25 साल पुराना इतिहास दोहराने का मौका

तौहीद अब्बासी

न्यूज़ दर्पण ब्यूरो, गाजीपुर

जहुराबाद की राजनीति में भारतीय जनता पार्टी के लिए उपलब्धियों एवं अपना जनाधार बढ़ाने का स्वर्णिम युग चल रहा है। जिसकी नींव में कोई और चेहरा है जो इस मुहिम में लगा है। विगत 5 वर्षों से जहुराबाद की राजनीति में सक्रिय राम प्रताप सिंह एवं शिव प्रताप सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका से इनकार नहीं किया जा सकता। अगर एक छोटे कार्यक्रम का संदर्भ लें तो इस कथन को उस वक्त बल मिला जब पिछले सप्ताह भाजपा जिला अध्यक्ष के जन्मदिन के अवसर पर शिव प्रताप सिंह द्वारा जहूराबाद विधानसभा के असना गांव में जन्मदिन समारोह के बहाने भारतीय जनता पार्टी के जनाधार को बढ़ाने की शानदार कवायद की गई एवं समाज के विभिन्न वर्गों से दर्जनों लोगों को पार्टी के बैनर तले सदस्यता दिलाई गई । एक दूसरे घटनाक्रम में आम जनमानस में चर्चा जोर पकड़ रही है कि अगर शिव प्रताप सिंह सरीखे भाजपा नेता सक्रिय नहीं होते तो बड़बोले ओमप्रकाश राजभर को अपने उलल जलूल राजनीतिक बयानों पर इतनी किरकिरी नहीं झेलना पड़ता। ओमप्रकाश राजभर जोकि अनाप-शनाप बयानों के लिए जाने जाते हैं ,को पहली बार जहुराबाद विधानसभा में इतना व्यापक विरोध झेलना पड़ रहा है और इस विरोध की रूपरेखा एवं राजभर समाज को इसके लिए आगे लाने की कवायद के पीछे कहीं न कहीं राम प्रताप सिंह एवं शिव प्रताप सिंह का बहुत प्रभावी रोल है ।राजभर बाहुल्य जहुराबाद विधानसभा में ओमप्रकाश राजभर धीरे-धीरे अपने समाज के लिए विलेन बनते जा रहे हैं और राजभर वोटों का भारतीय जनता पार्टी की तरफ मुड़ना एक सुखद अनुभव प्रतीत होता है जिसके लिए शिव प्रताप सिंह दिन रात एक किए हुए हैं । ओमप्रकाश राजभर के खिलाफ यह राजनीतिक हमले नए नहीं है ।शिव प्रताप सिंह विगत 3 सालों से उनके विधायक कार्यकाल में किए गए कार्यों की लगातार मॉनिटरिंग करते हुए और घटिया निर्माण की पोल खोलते हुए लगातार सोशल मीडिया में देखे जा रहे हैं जहूराबाद विधानसभा की दर्जनों ऐसी सड़कें हैं जिनमें उनके निर्माण में भारी अनियमितता की गई है और शिव प्रताप सिंह ने उसे ही मुख्य मुद्दा बनाया है बहुजन समाज पार्टी का गढ़ रहे जहुराबाद विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी के जनाधार में लगातार हो रही बढ़ोतरी पार्टी के लिए 2022 के चुनाव से पूर्व एक अच्छी खबर है जिसके बाद लोगों द्वारा लगातार कयास लगाए जा रहे हैं कि विगत 25 वर्षों का पार्टी का जहुराबाद विधानसभा में चुनाव में जीत पाने का सूखा अब दूर होने वाला है। गौरतलब है कि 1996 में भारतीय जनता पार्टी की तरफ से गणेश राजभर अंतिम विधायक हुए थे उसके बाद भारतीय जनता पार्टी के बैनर तले कोई प्रत्याशी विधानसभा नहीं पहुंच पाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *