कासिमाबाद ब्लॉक प्रमुख चुनाव-गालीबाज प्रत्याशी को महंगा पड़ा भौकाल ,मुकदमा दर्ज

कासिमाबाद ब्लॉक प्रमुख चुनाव-गालीबाज प्रत्याशी को महंगा पड़ा भौकाल ,मुकदमा दर्ज

न्यूज़ दर्पण ,कासिमाबाद, गाजीपुर

कासिमाबाद ब्लॉक प्रमुख चुनाव से पूर्व एक गालीबाज प्रत्याशी ने ऐसा माहौल बनाया की ,बात पुलिस में पहुंच गई। बताया जा रहा है कि सुकहा ग्राम पंचायत के पूर्व प्रधान मनोज गुप्ता इस समय कासिमाबाद ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी के लिए जद्दोजहद कर रहे है ,उसे इस अभियान में कुछ मानिंद लोगों का साथ है। शनिवार तक सबकुछ ट्रैक पर था मगर मनोज गुप्ता के एक कथित ऑडियो टेप ने कासिमाबाद में सियासी भूचाल ला दिया है। मीडिया को मिले इस ऑडियो टेप में मनोज गुप्ता किसी अज्ञात व्यक्ति से बात करते वक़्त एक समाचार पत्र के जिला ब्यूरो को काफी अपशब्द व अमर्यादित भाषा से नवाजते जा रहे हैं। मनोज के टारगेट पर एक रोज़गार सेवक भी है जिसे वो भद्दी भाषा मे गालिया दे रहे हैं। साथ ही ब्लॉक प्रमुख का पद पाने के लिए 1 करोड़ रुपया बहाने व प्रत्येक बीडीसी सदस्यों को 1 लाख देने जैसा गैरकानूनी एलान करते नज़र आता हैं। एक समाचार पत्र के जिला ब्यूरो व उनके परिवार के खिलाफ घिनौनी भाषा के प्रयोग करते ही राजनीति खेमों में सियासी भूचाल ला दिया है। बात यहीं खत्म नहीं हुई ऑडियो टेप में भाजपा नेता शिवप्रताप सिंह को भी टारगेट पर लिया गया है और उनके खिलाफ अहंकार की भाषा का प्रयोग किया गया है जिसके बाद सुनने में आ रहा है कि उनकी भी भृकुटि तनी हुई है।शाम होते होते मामला पुलिस तक पहुंच गया और पत्रकार अजीत कुमार सिंह की तहरीर पर कथित गालीबाज पूर्व प्रधान के खिलाफ कासिमाबाद कोतवाली में धमकी,गाली गलौज व बाल अपराध रोकने वाले अधिनियम पोक्सो एक्ट के तहत गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। वहीं भाजपा नेता व मंडल अध्यक्ष संतोष गुप्ता की तहरीर पर ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में धनबल व बाहुबल के प्रयोग की एलानिया धमकी के खिलाफ सुसंगत धाराओं में भी मुकदमा दर्ज किया गया है। कुल मिलाकर कासिमाबाद क्षेत्र में इस घटना को लेकर चर्चाओं का बाज़ार गर्म है। स्थानीय पुलिस किसी भी प्रकार के राजनीतिक टकराव को रोकने के लिए कवायद कर रही है। खबर लिखे जाने तक आरोपी की गिरफ्तारी नही हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *