स्टेट बैंक बहादुरगंज में लाखों की हेराफेरी के आरोप से हड़कंप

स्टेट बैंक बहादुरगंज में लाखों की हेराफेरी के आरोप से हड़कंप

न्यूज़ दर्पण डेस्क ,बहादुरगंज

भारतीय स्टेट बैंक आफ इंडिया की बहादुरगंज शाखा के ग्राहकों के खाते से लाखों रूपये फर्जी तरीके से निकालने का सनसनीखेज आरोप लगाया गया है।सूत्रों की मानें तो आधा दर्जनों ग्राहकों के खातों से उनके बिना बैंक गए अनाधिकृत तरीके से धनराशि निकाल ली गई और उन्हें कानोकान खबर नहीं हुई। इसमें से कुछ ग्राहकों ने अपना जब खाता चेक किया तो उनके होश उड़ गए। ग्राहकों के आरोपों के आधार पर  बताया जा रहा है कि बैंक कर्मचारियों की गबन के नियत से की गई हेराफेरी इसका मुख्य कारण है। न्यूज़ दर्पण ने जब इस घटनाक्रम की पड़ताल की तो पता चला है कि यह बैंक कर्मियों की हरकत नई नहीं है विगत 3 माह पूर्व स्थानीय रसूलपुर गांव की एक महिला के खाते से भी ₹44000 अनाधिकृत रूप से निकाल लिए गए।  ग्राहक द्वारा  इस बाबत बवाल मचाने के बाद  उसके खाते में निकाली गई धनराशि दोबारा बैंक द्वारा वापस भेज दी गई , पत्रकारों को उस समय भी बैंक की इस दरियादिली पर संदेह हुआ था।

पुलिस में नहीं दी गयी कोई तहरीर

खबर लिखे जाने तक  खाताधारकों की तरफ से पुलिस में अब तक कोई तहरीर नहीं दी गई है। जब सोमवार को बैंक खुलेगा तो यह मामला और बड़ा हो सकता है जब विभिन्न खाताधारक अपने खातों की स्थिति जानने बैंक आएंगे ।बैंक द्वारा इस गबन के पीड़ितों में नगर के व्यवसाय , बुनकर यहां तक कि पूजा पाठ कराने वाले पुजारी भी शामिल है।

आश्चर्यजनक तरीके से लौटाई गई खातों में धनराशि

बैंक द्वारा किए गए गबन की खबरें ज्यों ही मीडिया में जंगल की आग की तरह फैलने लगी तब मामले की गंभीरता को देखते हुए बैंक कर्मियों ने जालसाजी की दूसरी पटकथा लिख दी और विश्वस्त सूत्रों के अनुसार खबर मिली है कि कई पीड़ित खाताधारकों के खाते में निकाली गई धनराशि वापस जमा कर दी गई है मजे की बात यह है कि यह ट्रांजैक्शन उस समय हुआ जब साप्ताहिक अवकाश था अभी भी सवाल यह उठता है कि स्टेट बैंक के कार्य प्रणाली में क्या ऐसी भी व्यवस्था दी गई है कि बैंक कर्मी जिस दिन जिस समय चाहे किसी व्यक्ति के खाते से छेड़छाड़ कर सकते हैं। यह घटना स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया की साख को धूमिल करती है साथ ही एक बड़ा सवालिया निशान भी खड़ा करती है कि क्या लोगों के पसीने से कमाई गई धनराशि भारत सरकार के इस सबसे बड़े बैंक में सुरक्षित है भी या नहीं। इसमें सबसे बड़ा सवालिया निशान यह भी है कि ऐसे और कितने खातों को इस गबन करने वाले कर्मचारियों ने प्रभावित किया है ज्ञात हो कि बहादुरगंज स्टेट बैंक में सदैव कर्मचारियों का टोटा रहा है और बैंक के आधे से ज्यादा कार्यभार प्राइवेट कर्मचारियों के कंधों पर होती है। फिलहाल उपरोक्त आरोपों में सच्चाई है या प्रोपगंडा ,ये विभागीय जांच के बाद सामने आएगा। नगर में चर्चाओं का बाजार गर्म है।

One thought on “स्टेट बैंक बहादुरगंज में लाखों की हेराफेरी के आरोप से हड़कंप

  1. इस सनसनीखेज मामले को‌ प्रमुखता से उठाकर सभी को जागरूक किया है, लेकिन अब बैंक में ऐसी धोखाधड़ी हो तो‌ ग्राहक अब कहां सुरक्षित रहेगा यह बड़ा सवाल है ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *